Spread the love
  • गाँधी, महात्मा (1869-1948 ई.)- बापू व राष्टरपिता के नाम से विख्यात महात्मा गाँधी को विश्व के महानतम व्यक्तियों में से एक माना जाता है। उन्होंने भारत को आजादी दिलाने के लिए सत्याग्रह व अहिंसा जैसे अभिनव अस्त्रों का प्रयोग किया। 30 जनवरी, 1948 को नाथूराम गोड़से ने उनकी हत्या कर दी।
  • गैरीबाल्डी (1807-1882 ई.)- इटली के एकीकरण में मुख्य भूमिका निभाई। इन्होंने मैजिनी के साथ मिलकर इटली में ‘यंग इटलीÓ मूवमेंट चलाया।
  • गोपाला- बँगाल के पाल वंश के संस्थापक (750 ई.)।
  • गोविन्द- महानतम राष्ट्रकूट शासक जिसने प्रतिहार, चोल, पांड्य, गंगा व पल्लव को हराया।
  • गुरू नानक देव (1469-1538 ई.)- सिक्ख धर्म के संस्थापक और प्रथम गुरू। इनका जन्म नानकाना साहिब (पाकिस्तान) में हुआ था।
  • गुरू तेग बहादुर- ये सिक्खों के नौवें गुरू थे। 1675 ई. में औरंगजेब ने इनकी हत्या करवा दी थी।
  • कैप्टेन जेम्स कुक (1728-1779 ई.)- ब्रिटिश नौचालक जो अंटार्कटिक वृत्त दक्षिण की यात्रा करने वाले प्रथम मानव बने। उन्होंने प्रशांत महासागर की भी खोज की।
  • चार्ली चैपलिन (1889-1977 ई.)– इंग्लैण्ड में जन्में विश्वविख्यात अमेरिकी हास्य अभिनेता और निर्देशक। प्रमुख फिल्में- ‘द ट्रैम्पÓ, ‘द किडÓ, ‘द गोल्ड रसÓ, ‘द सर्कसÓ, ‘सिटी लाइट्सÓ, ‘द ग्रेट डिक्टेटरÓ, ‘लाइमलाइटÓ।
  • चाल्र्स डार्विन (1809-1862 ई.)- महान जीव वैज्ञानिक, जिन्होंने दक्षिणी सागर के वन्य जीवन का गहरा अध्ययन करने के उपरांत अपनी पुस्तक ‘द ओरीजिन ऑफ स्पीसीज़Ó की रचना की। उनके अनुसार मानव का विकास वानर समान पूर्वज से हुआ है।
  • चाल्र्स डिकेन्स (1812-1870 ई.)- विक्टोरियन इंग्लैंड के महानतम उपन्यासकारों में से एक। प्रसिद्ध उपन्यास ‘ऑलिवर ट्विस्ट’, ‘ग्रेट एक्सपेक्टेशन्सÓ, ‘डेविड कॉपरफील्डÓ आदि।
  • कन्फ्यूशियस (लगभग 551-479 ई. पू.)– चीनी दार्शनिक और राजनीतिक चिंतक, जिनके चिंतन का प्रभाव चीन में आधुनिक काल तक रहा।
  • कार्ल बेंज (1844-1929 ई.)- जर्मन इंजीनियर जिन्होंने 1895 ई. में आंतरिक दहन इंजन (Internal Combustion Engine) का आविष्कार किया।
  • एडवर्ड जेन्नेर (1749-1823 ई.)- अंग्रेज वैज्ञानिक जिसने चेचक (Small Pox) के टीके का आविष्कार किया।
  • गैब्रियल फारेनहाइट (1686-1736 ई.)- जर्मन-डच वैज्ञानिक जिन्होंने प्रथम मरकरी और फारेनहाइट थर्मामीटर का निर्माण किया।
  • गुग्लीमो मारकोनी (1874-1937 ई.)- इतालवी विद्युत इंजीनियर एवं रेडियो का आविष्कारक। 1909 ई. में उन्हें नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया।
  • गैलीलियो (1564-1642 ई.)- इतालवी खगोलविद् जिन्होंने शक्तिशाली दूरबीन का आविष्कार किया और बृहस्पति के उपग्रहों की खोज की। उन्होंने सूर्य-केन्द्रित कोपरनिकस सिद्धांत का समर्थन किया, जिसके फलस्वरूप उन्हें मृत्युदंड दिया गया।
Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *