TAGS: UPPCSUPSC
Spread the love

वैसे तो इस वर्ष मेरे कई छात्र और छात्राएं इस वर्ष 64th #बीपीएससी परीक्षा में चयनित हुए हैं। उन सभी को बधाई।
लेकीन एक छात्रा का विशेष तौर पर मैं उल्लेख करना चाहूंगा है जिससे कई छात्र छात्राओं को प्रेरणा मिल सकती है।

BPSC की 64th परीक्षा में 423 वीं रैंक के साथ रेवेन्यू ऑफिसर के पद पर चयनित कनकलता मेरे गृह नगर महाराजगंज सिवान से संबध रखती है। इनके पिता डा. प्रो. विजय कुमार पाठक महाराजगंज के RBGR कॉलेज में प्राध्यापक थे बाद में राजेंद्र महाविद्यालय छपरा में यूनिवर्सिटी प्रोफेसर से रिटायर होकर मिशन कंपाउंड सिवान में रहते हैं। और इनकी माता जी भी कॉलेज के सामने के स्कूल स्वामी क्रमदेव यमुना राम (बाबा स्कूल) मे प्राध्यापिका थी।

दिल्ली में जब इस छात्रा से परिचय हुआ तो ऐसा लगा जैसे घर की बच्ची आ गई है। मैंने #डीएवी_स्कूल सिवान जाने से पहले लगभग एक महीने तक बाबा स्कूल में पढ़ा था हालंकि मेरा नामांकन नही हुआ था लेकीन उन दिनों बिना नामांकन प्रक्रिया के ही जाकर किसी भी विद्यालय में बैठ कर पढ़ लेते थे। एक स्वजातीय शिक्षक स्वर्गीय श्री लक्ष्मीकांत सिंह का आशिर्वाद साथ में था इसलिए कोई समस्या थी नही। स्कूल में कौन कहे RBGR College में भी बिना नामांकन के लगभग 20-25 दिन पढ़ा था #राजेंद्र_कॉलेज छपरा जाने से पहले। आदत पढ़ने की थी बस झोला उठाया और चल दिए। उस जमाने में कोई स्कूल कॉलेज में ड्रेस वैगारह नही होता था। अपना झोला जो मां ने सिल दिया था और अपनी गाडी जो ईश्वर ने दिया था मतलब पैदल। इस बच्ची मिलकर लगा गुरु ऋण से मुक्ति पाने का सरल अवसर मिल रहा है ।

इसलिए जो भी बन सकता था मार्गदर्शन दिया और आज सुबह जब इसने फोन कर अपने सफलता की जानकारी दी तो खुशी का कोई ठिकाना न रहा। वैसे इसने अपनी गर्भावस्था के दौरान तमाम मुश्किलों को पार करते हुए यह सफलता हासिल की है।

अभी अपने लक्ष्मी की देखभाल में व्यस्त होने के कारण इस वर्ष UPSC की परीक्षा नहीं दे पा रही है अगले वर्ष अवश्य देगी। फिलहाल पटना में है इनके पति FCI में मैनेजर हैं। मैने इसे UPSC की तैयारी कराई है उम्मीद है यह मेधावी छात्रा वह भी साकार करेगी।

एक बात इनकी सफलता से युवा पीढ़ी सीख सकती है कि लगातार परिश्रम से सफलता मिलेगी। अगर दृढ़ निश्चय हो, शादी ब्याह , बाल बच्चे सफलाता में बाधक नही बनता और सामाजिक दायित्व का निर्वहन करते हुए भी सफलता पाई जा सकती है।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *