विज्ञान और प्रौद्योगिकी : कुछ महत्वपूर्ण जानकारी-2

 

1.आवर्त सारणी के तीन नए तत्व: आवर्त सारणी के तीन नए तत्व 110( डीएस ), 111(आरजी ), 112 (सीएन) 2012 में वैज्ञानिक चर्चा के केंद्र में रहेंगे।

2.मेगापिक्सल कैमरा: मेगापिक्सल कैमरे की क्वालिटी को नापने का एक पैमाना है जिस कैमरे में जितने ज्यादा मेगापिक्सल होंगे उसकी पिक्चर क्वालिटी उतनी ही बेहतर होगी। एक मेगापिक्सल में 10 लाख पिक्सल्स होते हैं और इन्हे डिजिटल इमेजिंग की रिजल्यूशन कैपेबिलिटी में इस्तेमाल किया जाता है। आम भाषा में कहें तो फोटो कितनी बड़ी होगी यह पिक्सल पर निर्भर करता है।जितने ज्यादा मेगापिक्सल का कैमरा होगा वह फोटो में ऑब्जेक्ट की डिटेल उतनी ही ज्यादा पकड़ेगा और जितनी ज्यादा डिटेल होगी पिक्चर उतनी ही ज्यादा क्लियर और बड़ी हो सकती है।

3. हिग्स- बोसॉन: विश्व की विशालतम मशीन लार्ज हैड्रॉन कोलाइडर में प्रकाश की गति से प्रोटानों की भयानक टक्कर से उत्पन्न हुई अपार ऊर्जा से ब्रह्मांड का रहस्यमयी तत्व हिग्स-बोसॉन पैदा हुआ, लेकिन यह उत्पन्न होते ही खत्म हो गया। हालांकि इसके उत्पन्न होने के निशान बचे रहे। वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि 2012 में अन्य प्रयोगों के दौरान हिग्स-बोसोन तत्व काफी चर्चा में रहेगा।

4. मेघा- ट्रापिक्स : भारत और फ्रांस द्वारा संयुक्त रूप से निर्मित व अंतरिक्ष में हालिया स्थापित मेघा-ट्रापिक्स सैटेलाइट 2012 में शक्तिशाली तूफानों व बादलों की निर्माण प्रक्रिया पर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेगा।

5. केप्लर दूरदर्शी : अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा की अंतरिक्ष दूरदर्शी केप्लर द्वारा हमारे सौरमंडल से बाहर पृथ्वी से मिलते-जुलते कई ग्रह खोजे जाने तथा इसके आगे की जानकारी एकत्र करने की प्रक्रिया 2012 में भी जारी रहेगी।

6. विशालतम दूरदर्शी अल्मा : चिली में हालिया स्थापित विश्व की विशालतम दूरदर्शी अटाकामा लार्ज मिलीमीटर/सबमिलीमीटर अरे (अल्मा) 2012 में अंतरिक्ष के गूढ रहस्यों का पता लगाकर वैज्ञानिक जगत को अचंभित कर सकती है। गौरतलब है कि अल्मा 21वीं सदी की महान उपलब्धियों में शुमार की जाती है।

7. आईट्वीन : पर्सनल कम्प्यूटर की फाइलों को विश्व में कहीं भी, किसी भी कम्प्यूटर पर प्राप्त करने में सक्षम चमत्कारी यूएसबी ड्राइब्स आईट्वीन इस वर्ष काफी चर्चा में रहेगी।

8. क्वांटम डॉट्स : मानचेस्टर यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों द्वारा निर्मित अति सूक्ष्म लाइट-एमिटिंग-क्रिस्टल क्वांटम डॉट्स अति पतले टेलीविजन बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है। गौरतलब है कि इससे बने टेलीविजन इतने पतले होंगे कि इन्हें पॉकेट में मोडकर रखा जा सकेगा।

9. क्यूरीअसिटी रोवर : अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का क्यूरीअसिटी रोवर न केवल मंगल ग्रह के अति ठंडे, शुष्क व निर्जन धरातल जीवन का पता लगाएगा, बल्कि वहीं पर मंगल ग्रह की मिट टी व चट। त्नों  की बनावट की जांच भी करेगा। 

10. गैस क्रोमैटोग्राफी-मास स्पेक्ट्रोमेट्री :सांसों के जरिए टीबी मरीजों की शीघ्रता से जांच हेतु नवीनतम तकनीक गैस क्रोमैटोग्राफी-मास स्पेक्ट्रोमेट्री इस वर्ष काफी उपयोगी सिद्ध हो सकती है।

11. टेट्रासाइक्लिक ट्रीटेर्पिनाइड क्यूसर्बिटैसिंस :कडवी लौकी में पाए जाने वाले कम्पाउंड टेट्रासाइक्लिक ट्रीटेर्पिनाइड क्यूसर्बिटैसिंस से लोग बचने की कोशिश करेंगे, क्योंकि इससे साइड इफेक्ट होने की आशंका बनी रहती है।

11. सेलेनो- शुगर:2012 में हार्ट को बचाने वाली सेलेनो-शुगर काफी चर्चा में रह सकती है, क्योंकि यह अत्यधिक रिएक्टिव केमिकल हाइपोहैलस एसिड को रोककर हार्ट की कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाती है।

12. डेनड्रिटिक सेल्स :इस वर्ष मलेरिया की नई दवा विकसित करने में स्प्लीन की कोशिका डेनड्रिटिक सेल्स पर अनकों नए रिसर्च हो सकते हैं।

13.ब्लूटूथ :ब्लूटूथ एक हाई स्पीड वायरलेस टेक्नोलोजी है जो की लैपटॉप, मोबाइल फोन और इसी तरह की इलैक्ट्रोनिक डिवाइस को एक दूसरे को डाटा भेजने के इस्तेमाल की जाती है| ब्लूटूथ डाटा को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में भेजने के लिए इस्तेमाल होता है| ब्लूटूथ के जरिये डाटा को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में भेजने की दूरी 32 फीट यानी 10 मीटर तक की होती है| ब्लूटूथ के जरिये डाटा की स्पीड 1 mbps तक की होती है|

14.वाई फाई : वाई फाई जिसे वायरलेस फिडेलिटी भी कहते हैं एक वायरलेस नेटवर्किंग सुविधा है, वाई फाई का एक सीमित क्षेत्र होता है वाई फाई के जरिए हम अपने लैपटॉप,मोबाइल, आईपॉड इत्यादि को बिना केबल के इंटनेट से जोड़ सकते हैं वाई फाई के जरिए किसी भी किसी भी तार की जरुरत नहीं होती है। उदाहरण के लिए भारत में कई ऑफिस, मॉल या एयरपोर्ट वाईफाई सुविधा से युक्त हैं जहां आप अपना लैपटॉप चलाकर उसमें बिना इंटरनेट का तार जोड़े वाई फाई की सुविधा का मजा उठा सकते हैं इसमें बिना किसी इंटरनेट केबल के आप नेट से कनेक्ट होकर ईमेल, चेटिंग तथा सर्फिंग कर सकते है। भारत में पुणे पहला ऐसा शहर है जो पूरी तरह वाई फाई युक्त है।

Be Sociable, Share!
 

No comments

Be the first one to leave a comment.

Post a Comment


 

 

 

Locations of Site Visitors

 

Follow Us!

 

My Great Web page