इतिहास:विश्व विख्यात व्यक्तित्व 7

 

खारवेल- कलिंग (उड़ीसा) का प्राचीनकाल में महानतम सम्राट जिसके बारे में ‘हाथीगुम्फा शिलालेख’ से जानकारी मिलती है। 

ख्वाज़ा मुइनुद्दीन चिश्ती (12वीं शताब्दी)- भारत में चिश्ती सिलसिले के संस्थापक सूफी संत। वे 1192 में भारत आए। 

कृष्णादेव राय (शासन 1509-1530 ई.)- विजयनगर साम्राज्य के महानतम शासक। वे तेलुगू व संस्कृत के  विद्वान थे और उन्होंने ‘अमुक्तमलयादा’ नामक पुस्तक की रचना की। 

लियोनार्डो डि विन्ची (1452-1519 ई.)- इतालवी कलाकार, स्थापत्यकार, वास्तुशास्त्री, इंजीनियर, आविष्कारकर्ता, वैज्ञानिक व गणितज्ञ। इन्हें पुनर्जागरण का प्रतिनिधि पुरुष माना जाता है। ‘मोनालिसा और ‘द लास्ट सपर’ भित्ति चित्रों का निर्माण।

लाल बहादुर शास्त्री (1904-1966 ई.)- 1964 ई. में वे भारत के दूसरे प्रधानमंत्री बने। उनके शासनकाल के दौरान भारत-पाक युद्ध (1965) हुआ जिसकी परिणति ताशकंद समझौते में हुई। ।

लाला लाजपत राय (1865-1928 ई.)- ‘पंजाब के शेर के उपनाम से विख्यात लाला लाजपत राय ने स्वतंत्रता आंदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। साइमन कमीशन के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज से मौत। 

लाओ त्जु (600 ई. पू.)- चीनी दार्शनिक और ताओवाद के संस्थापक। 

लक्ष्मीबाई, झाँसी की रानी (1835-1858 ई.)- झाँसी की शासक जो एक महान योद्धा थीं। उन्होंने 1857 के गदर के दौरान अपनी वीरता से अंग्रेजों के दाँत खट्ट किए। 

लेनिन, व्लादीमिर (1870-1924 ई.)- रूसी क्रांतिकारी नेता व बोल्शेविक पार्टी के संस्थापक जिन्होंने 1917 की रूसी क्रांति का नेतृत्व किया। 1922 में सोवियत संघ की स्थापना की। 

लिंकन, अब्राहम (1809-1865 ई.)- सं. रा. अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति जिन्होंने दास-प्रथा का उन्मूलन किया। 1865 ई. में जॉन विल्केस बूथ के हाथों हत्या। 

मैकियावेली, निकोलो (1469-1527 ई.)- इतालवी राजनीतिशास्त्री व दार्शनिक। प्रसिद्ध कृति ‘प्रिंस’।

मैगेलान, फर्डीनांड (1480-1521 ई.)- पुर्तगाली अन्वेषणकर्ता जिन्होंने पृथ्वी की परिक्रमा की। 

महावीर (540-468 ई. पू.) – वे जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर थे। उनका जन्म वैशाली के पास हुआ था। 42 वर्ष की आयु में उन्हें कैवल्य (आध्यात्मिक ज्ञान) की प्राप्ति हुई। भगवानमहावीर ने अपनी शिक्षाओं में अहिंसा पर विशेष जोर दिया। 

मार्को पोलो (1254-1324 ई.)- वेनिसवासी व्यापारी व यात्री। चीन की यात्रा  (1271-92 ई.)। इनके यात्रा वृतांत यूरोप में काफी प्रसिद्ध हुए। 

माओ त्से तुंग (1893-1976 ई.)- चीनी कम्युनिस्ट चिंतक व क्रांतिकारी। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना में मुख्य भूमिका (1921 ई.)। दक्षिण-पूर्वी चीन में कम्युनिस्ट रिपब्लिककी स्थापना (1931-34 ई.)। 1934 ई. में ऐतिहासिक लाँग मार्च। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद चियाँग काई शेक को पराजित करके देश के राष्ट्राध्यक्ष बने। सांस्कृतिक क्रांति के दौरान विरोधियों का दमन (1966-69 ई.)। 

मार्टिन लूथर (1483-1568 ई.)- जर्मन धर्मशास्त्री व धर्म सुधारक। उन्होंने पोप की सत्ता के खिलाफ विद्रोह किया जिससे प्रोटेस्टेंटवाद का उदय हुआ। 

मार्टिन लूथर किंग जू. (1929-1968 ई.)- अमेरिकी अश्वेतों के नेता। ‘सदर्न क्रिश्चियन लीडरशिप कांफ्रेंस’ के संस्थापक। जेम्स अर्ल द्वारा हत्या। 

माक्र्स, कार्ल (1818-1883 ई.)- जर्मन अर्थशास्त्री व वैज्ञानिक कम्युनिज्म के प्रतिपादक। उन्होंने एंगेल्स के साथ संयुक्त रूप से मिलकर समाजवाद व साम्यवाद की आधुनिक अवधारणाओं का विकास किया। ‘दास कैपीटलÓ के लेखक जिनका आधुनिक युग पर जबर्दस्त प्रभाव पड़ा।

Be Sociable, Share!
 

No comments

Be the first one to leave a comment.

Post a Comment


 

 

 

Locations of Site Visitors

 

Follow Us!

 

My Great Web page