IAS Mantra Series : Types of Hackers

 

हैकर के प्रकार 

मुझे याद है जब मैं बहुत छोटा था तो मेरे यहाँ पहली बार एक टेप रिकॉर्डर आया था मेरे बड़े भाई ने थोड़ी देर बजाने के बाद मुझे कहा कि इसे ले जाकर घर के अंदर रख दूँ । मैं घर में ले जाकर उसके बटन दबाकर देखना चाहता था कि यह काम कैसे करता है । इसलिए उसमे थोड़ी खराबी आ गयी । क्योंकि मुझे इस बात की कोई जानकारी नहीं थी कि इसे ऑपरेट कैसे किया जाता है ? हालाँकि मेरी मंशा उसे खराब करने की नहीं थी । इसी प्रकार जब कोई व्यक्ति बिना किसी जानकारी के आपके कंप्यूटर में प्रवेश कर आपकी फाइल से छेड़छाड़ करता है जबकि उसकी मंशा नुकसान पहुँचाने की नहीं होती , तो उस व्यक्ति को क्रैकर कहा जाता है ।मूल रूप से एक शौकिया या गैर विशेषज्ञ हैकर जो अपने अल्प  ज्ञान के माध्यम से लोगों के कंप्यूटर सिस्टम में प्रवेश कर उनके फाइल या प्रोग्रामिंग में छेड़छाड़ करता है।

हैकर मूल रूप से कम्पुटर के विशेषज्ञ होते है जो कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग की अच्छी जानकारी रखते है । उनकी मंशा को ध्यान में रखते हुए हैकर को निम्न प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है ।
व्हाइट हैट हैकर (White Hat Hackers ): व्हाइट हैट हैकर एक ऐसा कम्पुटर विशेषज्ञ होते है जिनकी मंशा दुर्भावना पूर्ण नहीं होती है । ये लोग किसी प्रोग्रामिंग में खामियों को ढूंढने के लिए सिस्टम के अंदर अनाधिकृत रूप से प्रवेश करते है और प्रोग्रामिंग में हुई चुक का पता लगाते है । वास्तव में, सफेद टोपी हैकर्स की एक बड़ी संख्या को कम्पनियां खुद के द्वारा तैयार की गई प्रोग्रामिंग में खामियों को पता लगाने के लिए सुरक्षा विशेषज्ञों के रूप में नियुक्त करती है । ये लोग नैतिक हैकर के रूप में जाने जाते है । स्वयं के आईटी सुरक्षा सेटअप का परीक्षण करने के लिए किराए पर भी इन लोगों को लिया जाता है ।

 ब्लैक हैट हैकर (Black  Hat Hackers) :  ब्लैक हैट हैकर वे लोग होते है जो बिना किसी अधिकृत अनुमति के किसी सिस्टम में प्रवेश करता है और उस पर अपना अधिपत्य कायम कर लेता है ।इनकी मंशा दुर्भावनापूर्ण होती है ।जब भी वे लोग एक नेटवर्क ,फोन प्रणाली, या कंप्यूटर के रूप में प्रवेश करते है अपने तकनीक के उपयोग के साथ कंप्यूटर सुरक्षा प्रणालियों में तोड़ने में करते है  और बिना किसी अनुमति के उनमें विभिन्न प्रकार का परिवर्तन कर देते है ।आंकड़े चुराते है गोपनीय फाइल से जानकारी लेकर विभिन्न प्रयोजनों के लिए इस्तेमाल करते है ,पहचान की चोरी के अतिरिक्त ,बैंक या खाते से धन निकासी , क्रेडिट कार्ड धोखाधड़ी, आतंकवाद , बर्बरता, इत्यादि अवांछित कार्यो के लिए इस्तेमाल करते है । वह वायरस या वर्म इत्यादि की तैनाती करके भी आंकड़े चोरी करते है ।

 ग्रे हैट हैकर (Grey Hat Hackers) :  ग्रे हैट हैकर वे लोग होते है जो दोनों सफेद हैट और काली हैट दोनों के लक्षण दर्शाते  है। ये लोग वाइट हैट हैकर्स की तरह इन्टरनेट के जरिये  कमजोरियों का पता लगाते है फिर वह इस साइट के माध्यम से हैकिंग के बाद पाया गया खामियों को वेबसाइट के व्यवस्थापक को सूचित करते है। और उन खामियों को दूर करने के लिए अपनी सेवाएँ देने का प्रस्ताव रखते है ।डील फाइनल हो जाने पर एक मोटी रकम कमाते है । नहीं होने पर भी सिस्टम को कोई नुकशान नहीं पहुंचाते । चूँकि उनकी मंशा दुर्भावनापूर्ण नहीं होती है इसलिए उनमें वाइट हैट हैकर के लक्षण मिलते है । ये लोग मालिक की अनुमति के बिना चूँकि सिस्टम में प्रवेश कर जाते है और अप्रत्यक्ष रूप से इनकी भी मंशा सिस्टम की कमजोरियों को उजागर मालिक से मोटी धन कमाने की होती है जो की ब्लैक हैट हैकर्स के लक्षण है । अत : इन दोनों लक्षणों  के कारण ही इन्हें ग्रे हैट हैकर्स कहा जाता है ।

अभिजात वर्ग हैकर (Elite Hacker) : ये वैसे लोग होते है जो  समाज में अपनी प्रतिभा को प्रतिष्ठित करने और अपनी श्रेष्ठता साबित करने के लिए करते है । इनमे भी दोनों प्रकार के लक्षण मौजूद रहते है , क्योंकि बिना मालिक की अनुमति के ये सिस्टम में प्रवेश करते है । ऐसे लोग को उनकी  अद्वितीय टैलेंट के लिए पुरस्कृत भी किया जाता है ।ये दुसरे हैकर्स की  तुलना में अपनी प्रतिभा का वर्चस्व स्थापित करने के लिए धोखे के स्वामी का सिस्टम थोड़े समय के लिए हैक कर लेते है । 

Be Sociable, Share!

Comments are closed

Sorry, but you cannot leave a comment for this post.

 

 

Locations of Site Visitors

 

Follow Us!

 

My Great Web page